Pati Se Talak Lene Ke Upay

Pati Se Talak Lene Ke Upay , ” Talak Samasya Ke Samadhan Ke Liye Tantrik Upay Ka Paryog Kar Isse Chutkaara Parapat Kar Sakte Hai. Bhut Se Samya Pati Apni Patni Se Bhut Pareshaan Rehta Hai. Vo Usko Payar Aur Maan Samaan Nhi Deti Hai. Dusre Najriye Se Kahe To Pati Bhi Deri Se Ghar Aata Hai Aur Patni Ki Nhi Sunta Hai.

Kisi Parai Aurat Ke Piche Bhaagta Hai. Koi Bhi Saadhak Yha Per Talak Lene Aur Talak Dene Aur Talak Se Bachne Ke Tantrik Upay Kar Aap Apni Jindgi Ko Khushaal Bana Sakte Hai. Kisi Bhi Tarah Ki Talak Samasyaa Ka Samadhan Yha Aap Ko Mil Jaaye Ga.

Pati Se Talak Lene Ke Upay

  • शनिवार के दिन चार बत्ती वाला दीया सरसों के तेल का किसी सुनसान जगह पर जलाना है और अपनी प्रार्थना कर लेनी है । ये उपाय प्रत्येक शनिवार के दिन आपको करना है ।
  • अमावस्या के दिन गोशाला में पानी का दान करवाना है ।
  • प्रत्येक शनिवार के दिन सरसों के तेल का दीया अपने घर के दरवाज़े के बहार जलाय । हर बार आपको नया दीया काम में लेना है और पुराना दीया पीपल के पेड़ में डाल देना है ।
  1. अगर आप तलाक चाहते हैं या आप ने मुकदमा दायर कर रखा है, लेकिन वह अदालत में फंसा हुआ है तो-
  2. अपनी जेब में पाँच गोमती चक्र रखें कचहरी जाने से पहले। अब कचहरी मे मामले की सुनवाई के समय उसे दबा दे अपने दाहिने पैर के नीचे। यह टोटका मुकदमे का फैसला आप के पक्ष में होने की संभावना को प्रबल करता है।
  3. अपने अधिवक्ता को कलम उपहार में दे। अदालत में इससे आपकी विजय होगी।
  4. यदि आप तलाक की चाहत रखते हैं तो गहरे रगं के वस्त्र धारण करके कचहरी जाए।
  5. तलाक का निपटारा फटाफट कराने के लिए हकीक पत्थर लेकर किसी मंदिर में चढ़ा दें | यह कार्य ११ दिनों तक रोज करें | भगवान से प्रार्थना करें विजय निश्चित है।
  6. कचहरी में चलने वाले तलाक के मुकदमे में जल्द सफलता मिलने के लिए जब भी मुकदमा से घर वापस आए तो गुलाब का फूल अर्पित करे किसी मजार में अवश्य लाभ प्राप्त होगा पर सावधान आपको मजार से कहीं ओर न जाकर अपने घर ही जाना होगा पुष्प अर्पित करने के बाद।

तलाक से बचने के उपाय

कुंडली में अगर शनि का दोष हो तो रुद्राक्ष धारण करें सात मुखी | उसके साथ शनि ग्रह को शांत करने की कोशिश करें।

केतु के कारण यदि तलाक का योग बनता हो तो ९ मुखी रुद्राक्ष धारण करें | इसके अलावा पूजा अर्चना करें गणेशजी की।

कारण अगर राहु है तो रुद्राक्ष धारण करें आठ मुखी | इससे आप अवश्य ही लाभान्वित होगें।

राहु का दोष हटाने का एक अन्य उपाय है ७ नारियल चढ़ाए दक्षिण मुखी हनुमान मूर्ति पर। इसके साथ साथ दक्षिण मुखी हनुमान जी की विपरित दिशा परिक्रमा लगाए।

पुरुष हीरे को धारण करें। इससे घर में शांति का वास होता है और साथ-साथ धन वृद्धि होती है।

शुक्र यंत्र की स्थापना करे अपने सोने के स्थान पर। इससे भी पति पत्नी के बीच शांति स्थापित होती है।

यदि आपके घर में कहीं पर भी चींटियाँ निकलती है तो उन्हें चीनी मिला आटा खिलाए। लगातर ४० दिनोम तक इस क्रिया को करें। अवश्य ही लाभ होगा।

आपसी कलह का निपटारा करने के लिए रात को सोते समय अपने सिर को पूर्व दिशा की ओर कर के सोए। इससे सकारात्मक ऊर्जा का संचारित होगी है जो आपस में शांति स्थापित करने का एक कारक है।

तलाक से बचने के तरीके

दम्पत्ति के आपसी विवाद को सुलझाने के लिए गणेश जी की उपासना करनी चाहिए। साथ ही साथ लड्डू का भोग लगाएं।

यदि पति पत्नी की बात अदालत तक पहुंच गई है तो उसके निवारण के लिए पति अपनी पत्नी का और पत्नी अपने पति का नाम लिखे लाल कलम से भोजपत्र पर। अब २१ बार हनुमानजी के मंत्र का जाप करते हुए इसे घर के किसी कोने में रख दें। इसके साथ ही साथ भी नियमित रूप से प्रति मंगलवार हनुमानजी को सिंदूर और चोला चढ़ाएं। ऐसा करने से तलाक का योग समाप्त हो जाएगा।

बात कचहरी तरह पहुंच गई हो तो घर के दक्षिण दिशा में तीन गोमती चक्र फेंक दें।

सिंदूर की डिबिया में पाँच गोमती चक्र डालकर उसे पूजा स्थल पर रख दे। अब प्रतिदिन पूजा के समय महिलाएं उससे मांग भरे और पुरुष तिलक करें। तलाक रोकने के उपाय में यह एक कारगर उपाय सिद्ध हुआ है।

अपने घर के मंदिर में एक शिवलिंग स्थापित करें | इसकी प्राण-प्रतिष्ठा करवाकर प्रतिदिन स्नानोपरान्त जल और बेलपत्र से उनकी पूजा करें। साथ ही साथ भगवान शिव की पांच माला का जाप करें नीचे दिए गए मंत्र से। यह प्रक्रिया ४१ दिनों तक बिना नागा होनी चाहिए। इससे आपका तलाक बाधित हो जाएगा | मंत्र है–”ओम नमः शिव: शक्तिस्वरुपाय: मम: गृहे शांति कुरु कुरु स्वाह:”।

तलाक से बचने के टोटके

आप नारियल, काला जामुन,बदाम, अमरूद,जैतून, काले द्राक्ष आदि ७-७ की संख्या में ले। अब इसे काले रंग के एक कपड़े में बांध लें। इसके बाद शनि देव के चरण में इसे अर्पित करें।

पीपल की पेड़ की जड़ में १३ दिनों तक निरंतर जल चढ़ाएं।

निंबू, मेलफल, तांबा,जायफल, सीताफल, सुपारी, लोंग आदि सामग्री को ७-७ की संख्या में ले। अब इसे एक लाल कपड़े में (जो त्रिकोण के आकार का हो) बांध ले। उसके बाद इसे हनुमान जी के मंदिर में जाकर चढ़ा दें। यह क्रिया लगातार ७ मंगलवार तक करे।

 

ALL PROBLEM SOLUTION

ANY PROBLEM CALL…

MAHARAJ JI +91-9950420009