Pati mohan mantra पति मोहन मंत्र

Pati mohan mantra पति मोहन मंत्र, “अमावस्या की रात्रि को मिट्टी की एक कच्ची हंडिया मंगाकर उसके भीतर सूजी काहलवा रख दें इसके अलावा उसमें साबुत हल्दी का एक टुकड़ा, ७ लौंग तथा ७ कालीमिर्च रखकर हंडिया पर लाल कपड़ा बांध दें। फिर घर से कहीं दूर सुनसान स्थान पर वहहंडिया धरती में गाड़ दें और वापस आकर अपने हाथ–पैर धो लें। ऐसा करने से प्रबलवशीकरण होता है कौए और उल्लू की विष्ठा को एक साथ मिलाकर गुलाब जल में घोटें तथा उसका तिलकमाथे पर लगाएं। अब जिस स्त्री के सम्मुख जाएगा,

प्रातःकाल काली हल्दी का तिलक लगाएं। तिलक के मध्य में अपनी कनिष्ठिका उंगलीका रक्त लगाने से प्रबल वशीकरण होता है

वह सम्मोहित होकर जान तकन्योछावर करने को उतावली हो जाएगी।

Mantra – “ om asy sri sundrimantr swarth varn

                       Rishi iti swhipas swaha ”

Vidhi – जिस  स्त्री  का  पति  उससे  संतुस्ट  न  रहता  हो  , उस  स्त्री  को  निम्न  मंत्र  का  प्रतिदिन  108 दिन  tak 108 बार  जप  कर्मा  चाहिए  ,इससे  पति  पत्नी  पर  आकर्षित  होगा  तथा   दोनों  का  जीवन  आनद  मेय   हो  जायेगा  |

Pati mohan mantra पति मोहन मंत्र

पुरुष/पति का प्रेम प्राप्ति मोहन मंत्र साधना:-

कई स्त्री अपने पति से प्रेम नही मिलने के कारण परेशान रहती हैं, ऐसी स्थिति में मोहन मंत्र साधना के अंतर्गत पति मोहन मंत्र का प्रयोग बहुत ही असरदार होता है| अपने पति को किसी अन्य स्त्री के प्रेम के चुंगल में देखकर कई स्त्री को बड़ा दुःख होता है| अगर आपके प्रेम पर किसी और का कब्ज़ा हो जाए तो जिंदगी बहुत ही मुश्किल हो जाती है| स्त्रियों को ऐसी ही मुश्किल परिस्थिति से उबरने के लिए ही पति मोहन मंत्र का प्रयोग करना चाहिए| असंतुष्ट पति को फिर से अपने प्रेम से वशीभूत करने के लिए पत्नियाँ इस मंत्र का जाप करें, मंत्र इस प्रकार है –

“ओम अस्य श्री सुन्द्रिमंत्र स्वार्थ वर्ण ऋषि इति स्वहि पास स्वः”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *