Karz Mukti Ke Upay

Karz Mukti Ke Upay , ” Is sansar me dhan ka bhut parmukh sathaan hai. kai baar apni jarurat ko pura karne ke karan,vayapaar,karobaar ko badaane ke liye aur nasamjhi me hi hum karz le lete hai. jis karan hum time per us ko vapis nhi de pate hai. kai baar karz samya per na chook paane ke karan us per itna adhik bayaj bad jata hai ki use chukane ke liye aadmi ki nind haram ho jati hai. is badte karz ka asar pure parivaar per padta hai.

जानिए प्राचीन मान्यताओं और शास्त्रों के अनुसार कर्ज से छुटकारा पाने के उपाय , जिसको करने से कर्ज लेने वाले को निश्चय ही लाभ मिलेगा।

Karz Mukti Ke Upay

मंगलवार को शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर मसूर की दाल “ॐ ऋण-मुक्तेश्वर महादेवाय नमः”मंत्र बोलते हुए चढ़ाएं।

घर अथवा कार्यालय मे गाय के आगे खड़े होकर वंशी बजाते हुए भगवान श्री कृष्ण का चित्र लगाने से कर्जा नहीं चडता है,करजो से छुटकारा मिलता है | और दिए गए धन की डूबने की सम्भावना भी कम रहती है |

कर्जे से मुक्ति प्राप्त करने के लिए व्यक्ति लाल वस्त्र पहनें या लाल रूमाल साथ रखें। भोजन में गुड़ का उपयोग करें।

बुधवार को स्नान पूजा के बाद व्यक्ति सर्वप्रथम गाय को हरा चारा खिलाये उसके बाद ही खुद कुछ ग्रहण करें तो उसे शीघ्र ही कर्जे से छुटकारा मिल जाता है।

क़र्ज़ से छुटकारा पाने के लिए सर्व-सिद्धि-बीसा-यंत्र धारण करें इसे अति शीघ्र सफलता मिलती है।

हनुमानजी के चरणों में मंगलवार व शनिवार के दिन तेल-सिंदूर चढ़ाएं और माथे पर सिंदूर का तिलक लगाएं।हनुमान चालीसा या बजरंगबाण का पाठ करें|

५ गुलाब के फूल, १ चाँदी का पत्ता, थोडे से चावल, गुड़ लें। किसी सफेद कपड़े में २१ बार गायत्री मन्त्र का जप करते हुए बांध कर जल में प्रवाहित कर दें। ऐसा ७ सोमवार को करें।

कर्जा लेने वाला व्यक्ति यदि अपनी तिजोरी में स्फुटिक श्रीयंत्र के साथ साथ मंगल पिरामिड की स्थापना करें और नित्य धूप दीप दिखाएँ तो उसे शीघ्र ही ऋण से मुक्ति मिलती है ।

शनिवार के दिन सुबह स्नान करने के बाद अपनी लंबाई के बराबर काल धागा लेकर उसे एक नारियल के ऊपर लपेट लें। फिर अपनी नियमित पूजा के साथ इसका भी पूजन करें, पूजा के बाद इस नारियल को भगवान से ऋण मुक्ति के लिए प्रार्थना करते हुए बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। इस छोटे से उपाय से आपको अपनी मेहनत के श्रेष्ठ फल मिलने के योग बनेगे और आप के ऊपर शीघ्र ही कर्ज का भार कम होने लगेगा ।