Kamdev Mantra For Vashikaran कामदेव वशीकरण मंत्र

Kamdev Mantra For Vashikaran कामदेव वशीकरण मंत्र, “Mantra of Vashikaran, Hypnotism (Vashikaran), Vashikaran for Love, Vashikaran Mantra, love Mantra , Mantras to control ladies, males, superiors ,Vashikaran Mantra for Love, Vashikaran Mantra , Hypnotism Mantra Kamdeva is the god of love . Deva means divine or godly. Kama means aspiration, desire or passion. Lord Kamdev activates the sensual and sexual desires and makes the wearer hypnotically desirable by the opposite sex.

Kamdev Mantra For Vashikaran कामदेव वशीकरण मंत्र

कई लोग तो बाबा लोगो के पीछे लग जाते है मगर वो बाबा लोग भोंदू बाबा के रूप में होते है जो न की उसको गलत राह दिखाते है बल्कि उसके पास के जो पैसे है वो भी लुटने का जरिया धुन्डते रहते है . मगर दोस्तों ऐसा नहीं करना चाहिए इसमें आपकी भलाई हे आपको किसी बाबा के चक्कर में नहीं पड़ना है होता वही है जो मंजूरे खुदा होता है . इसमें आपकी मेहनत और भगवन की शक्ति का साथ होना जरुरी है इसी लिए भगवान को खुश करने के लिए कुछ मंत्र है जिसके इस्तमाल से आप किसी को भी अपने प्यार से वश में कर सकते है . कामदेव वशीकरण मंत्र यंत्र कामदेव को प्रसन्न करने के लिए है . कामदेव वशीकरण मंत्र का इस्तमाल कैसे करना चाहिए

:- पहले आपको सिख लेना चाहिए . इस मंत्र के इस्तमाल से आपके लिंग में ताकत आयेगी और आप सम्भोग क्रिया करने में सफल हो पाते है . पहली बार आपको ठोड़ी दिक्कत आ सकती है मगर बादमे पति पत्नी दोनों एक दुसरे को ख्सुह रख सकते है . लड़का लड़की को वश में करने के लिए भी वशीकरण मंत्र है कामदेव वशीकरण मंत्र यंत्र कामदेव को प्रसन्न करने के लिए है . कामदेव वशीकरण मंत्र का इस्तमाल कैसे करना चाहिए पहले आपको सिख लेना चाहिए . इस मंत्र के इस्तमाल से आपके लिंग में ताकत आयेगी और आप सम्भोग क्रिया करने में सफल हो पाते है . पहली बार आपको ठोड़ी दिक्कत आ सकती है मगर बादमे पति पत्नी दोनों एक दुसरे को ख्सुह रख सकते है . लड़का लड़की को वश में करने के लिए भी वशीकरण मंत्र है .

 कामदेव वशीकरण मंत्र

कामदेव वशीकरण मंत्र

‘ऊँ कामदेवाय विद्महे, रति प्रियायै धीमहि, तन्नो अनंग प्रचोदयात‍्।’
इस मंत्र के इस्तमाल से कामदेव आपके ऊपर प्रसन्न होते है .

आप

कामदेव का शाबर मंत्र बढ़ाता है सेक्स पॉवर को

‘ऊँ नमो भगवते कामदेवाय यस्य यस्य दृश्यो भवामि यस्य यस्य मम मुखं पश्यति तं तं मोहयतु स्वाहा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *