Bimari Khatam Karne Ke Upay

Bimari Khatam Karne Ke Upay , ” Is Post Me Hum Aap Logo Ko Rog Nivaran Ke Totke Bataiyege Yani Ki Bimari Door Bhagane Ke Upay. Jab Bhi Koi Aadmi Lambe Samya Se Bimaar Chal Raha Ho To Wah Aadmi In Upay Ko Karke Apni Bimari Se Chutkara Pa Sakte Hai.

टोटके और उपाय को करने के साथ-साथ आप डॉक्टर के पास जरुर जाएं , दवाई जरूर ले , हॉस्पिटल जरूर जाए | बीमारियां अनेक प्रकार की होती है मानसिक बीमारी , शारीरिक बीमारी , लाइलाज रोग जैसे की कैंसर , एड्स , डायबिटीज , इत्यादि | छोटे मोटे रूम जैसे की माइग्रेन सर का दर्द हाथ पैर में दर्द , पेट की परेशानी , किडनी में दिक्कत आना यह सारी बीमारियां आप इन उपाय के द्वारा दूर कर सकते हैं |

Bimari Khatam Karne Ke Upay

रोग और बीमारी का अंग्रेजी में कहते हैं illness and dieseases. कभी कभी घर परिवार में तंत्र मंत्र यंत्र काला जादू जादू टोना कराने से भी अचानक घर परिवार में बीमारी हो सकती है और कोई न कोई रोगी बन सकता है उससे बचाव के लिए आप यह उपाय करें |

  1. कोशिश करें कि रोगी को आप सोमवार के दिन डॉक्टर के पास लेकर जाएं इससे रोगी जल्दी ठीक होगा |
  2. बीमार आदमी की पहली दवाई की खुराक शिव भगवान को अर्पित करें इससे बीमारी जल्दी ठीक होगी |
  3. मरीज को हनुमान जी के कंधे का सिंदूर लगाएं इससे बीमारी जल्दी ठीक होगी |
  4. शनिवार को कोयले से तुलादान करवाएं और सात बार उतारा करें |
  5. मरीज ए आर बीमार रोगी कैसे रानी रात को एक सिक्का रख के सोए और सुबह उठकर उसे क्वेश्चन शान मैसेज दें इससे बीमारी जल्दी ठीक होगी और रोगी स्वस्थ होगा |

आप लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें और कोशिश करें कि अच्छी दिनचर्या रखी है आपको बीमारी नहीं लगेगी और उपाय को करके आप लोगों को फायदा मिलेगा और रोग मुक्त होंगे |

Bimari Khatam Karne Ke Totke

  • यदि घर में कोई व्यक्ति या बच्चा रोगग्रस्त है और काफी दवाईयां लेने के बाद भी सही नहीं हो रहा है तो शनिवार को एक नींबू लेकर रोगी के सिर से 7 बार उल्टा घुमाएं। फिर एक चाकू सिर से पैर तक धीरे-धीरे स्पर्श करते हुए नींबू को बीच से काट दें। दोनों टुकड़े दो दिशा में संध्या समय फैंक दें। यह टोटका किसी जानकार से पूछकर करेंगे तो अच्छा होगा। क्योंकि इसमें समय का विशेष महत्व होता है।
  • अगर बीमारी पीछा नहीं छोड़ रही है तो तीन पके हुए नींबू लेकर एक को नीला एक को काला तथा तीसरे को लाल रंग कि स्याही से रंग दे। अब तीनों नीबुओं पर एक एक साबुत लौंग गाड़़ दें।
  • इसके बाद तीन मोतीचूर के लड्डू लेकर तथा तीन लाल पीले फूल लेकर एक रुमाल में बांध दें। अब प्रभावित व्यक्ति के ऊपर से सात बार उबार कर बहते जल में प्रवाहित कर दें। ध्यान रहे प्रवाहित करते समय आसपास कोई खड़ा न हो।